भारत में बनी स्वदेशी तोप के-9 वज्र, ओर विश्व की नम्बर एक अमरीकी तोप भारतीय सेना में शामिल.

0
5
indiabiotics

आज हम बात करने जा रहे हैं, सेना को हाल ही में मिली कामयाबी के बारे में.जैसा की आप जानते ही हैं कि भारत आजादी के बाद से ही घोटालों का देश बन गया था, क्योंकि भारत पर राज ही एक घोटालेबाज पार्टी ने किया जिसका नाम था कांग्रेस | कांग्रेस ने कभी भी भारतीय सेना का मजबूत करने के बारे में सोचा ही नही, ओर सेनाओं को कमजोर करते चले गए.

indiabiotics

जंग में जितने के लिए सेना के लिए सबसे जरूरी होता है उसका तोपखाना,जिसका नही तोपखाना मजबूत है जंग में वो ही देश विजयी होता है, लेकिन भारत की कांग्रेस पार्टी ने यहां भी घोटाला किया ,बोफोर्स तोप घोटाला.
आपको भी यह सुनकर हैरानी हो रही होगी कोई देश के रक्षा सौदों में भी घोटाला कैसे कर सकता है, लेकिन कांग्रेस ने यह किया आज भी यह मामला भारत के सुप्रीम कोर्ट में है.

यह भी पढ़ें: जलकर खाक हो जाएंगे चीन-पाक के मिसाइल और जहाज जब उनपर होगा भारत की “काली-5000 हथियार” का वार।

indiabiotics

बोफोर्स घोटाले के बाद से ही भारत के पास तोपों की बहुत कमी थी, जिसको गंभीरता से लिया भाजपा की मोदी सरकार ने जब वो 2014 में सत्ता में आई, मोदी सरकार नें भारत में बन रही स्वदेशी तोप k-9 वज्र को गति दी ,इसपर होने वाले काम को तेजी से करवाने का प्रयास किया,ओर इसे तेजी से पूरा भी करवा दिया| दूसरा मोदी सरकार ने विश्व की नम्बर एक तोप M-777 होवित्जर तोप को अमेरिका से खरीदा,ये दोंनो तोपें आज सेना में शामिल होना चालू हो गई हैं.

indiabiotics

-आओ पहले जानें M-777 होवित्जर तोप की खासियत क्या-क्या है.

indiabiotics

★155 एमएम की ये तोप वजन में बहुत हल्‍की हैं। प्रत्‍येक तोप का वजन 3745 किलोग्राम है। वजन में हल्के होने के कारण इन्हें पर्वतीय इलाकों में ले जाने में बहुत आसानी होगी

★ बेहद मजबूत लेकिन हल्‍के तत्‍व टाईटेनियम और एल्‍यूमिनियम की मिश्रण से इस तोप की बॉडी तैयार की गई है

★दुश्मनों के ठिकानों पर निशाना लगाने वाली लेजर प्रणाली (लेजर इनर्शियल ऑर्टिलरी पॉइंटिंग सिस्टम) से लैस।
★ इसकी रेंज की बात की जाये तो यह 30 से 45 किलोमीटर तक मार कस सकती है.

अमरीका से 145 तोपों का सौदा भारत ने किया था जिनकी आपूर्ति जल्द ही होने वाली है.

K-9 वज्र की खासियत

यह पूरी तरह से विदेशी है,जिसे भारत में ही भारत की निजी कम्पनियों द्वारा बनाया गया है.भारतीय सेना में यह 100 तोपें शामिल की जानी हैं.जिन मेसे 10 तोपें सेना में शामिल की जा चुकी हैं.

★ इसकी मारक क्षमता 25 से 40 किलोमीटर तक कि दूरी तक है.और यह सिर्फ 30 सैकेंड में 3 गोले दागे सकती है.

★ यह भारत की पहली स्वदेशी तोप है,और यह हम किसी ओर देश पर तोपों के लिए ज्यादा निर्भर नही होंगे.

★ यह तोप सिर्फ 3 मिनट में 15 गोले ओर एक साथ एक मिनट में करीब 60 गोले दागकर दुश्मन देश के पड़खचे उड़ा सकती है.

 

indiabiotics