in ,

Udta Punjab फ़िल्म के लिए थे खूब मजे, और The Accidental Primeminister के ट्रेलर लांच पर चीख उठी कांग्रेस

बॉलीवुड फिल्में भारतीय जनता के मनोरंजन के साधनों मेसे एक है, लेकिन राजनीतिक पार्टियां आजकल फिल्मों को भी अपने फायदे और नुकसान की नजर से देख रही हैं.

भारत में bollywood फिल्मों का हर कोई दीवाना है. भारत में bollywood को भारत का और भारतीयों को bollywood का सहयोगी माना जाता है. यहां आए दिन कोई ना कोई नई film बनकर जनता के सामने आ रही है. इसी प्रकार से ही बॉलीवुड अपना कारोबार करता आ रहा है. भारत में ज्यादातर लोग रविवार के दिन कोई ना कोई नई film सिनेमा में देखने जरूर जाते हैं. इससे उनके सारे हफ्ते की थकान दूर हो जाती है. लेकिन राजनीतिक पार्टियों को जनता के काम या थकान से कोई लेना देना नही उनको अपनी राजनीति करनी होती है.

“The Accidental Prime Minister” फ़िल्म पर हो रहा है विवाद, दिक्कत इसमें सबसे ज्यादा कांग्रेस को है.

“The Accidental Prime Minister” फिल्म की कहानी भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और गांधी परिवार पर आधारित है. इस फिल्म का निर्देशन सजंय बारू जी नें किया है. फिल्म के नाम से ही समझ में आ रहा है कि कैसे मनमोहन सिंह को एक दम प्रधानमंत्री की कुर्सी पर कांग्रेस नें एक दम बैठा दिया था. ये सब एक दम अचानक से हुआ जिसे ऑक्सीडेंल शब्द में पिरो दिया गया. उस समय सोनिया गांधी को भारत के प्रधानमंत्री पद पर बैठाया नही जा सकता था, क्योंकि उनका जन्म “इटली” का था और बहुत सी अड़चनें भी थी और राहुल गांधी उस समय बालकबुद्धि थे, वैसे बालकबुद्धि तो आज भी राहुल गांधी को माना जाता है.

कांग्रेस चाहती है फ़िल्म बैन हो.

Congree इस फ़िल्म को लेकर एक दम बौखला चुकी है यहां मध्यप्रदेश के बौखलाए हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ जी नें तो सैंसर बोर्ड के खिलाफ जाकर इस फ़िल्म को मध्यप्रदेश में रीलीज होने से बैन भी लगा दिया है. कांग्रेस का कहना है कि ये फिल्म मनमोहन सिंह जी असल जिंदगी से छेड़छाड़ करती हुई दिख रही है, हालांकि यह बात अलग है कि यह फ़िल्म कहीं ना कहीं गांधी परिवार की कांग्रेस पार्टी को भारी नुकसान पहुंचाती हुई दिख रही है. कांग्रेस को 2019 चुनाव में इस फ़िल्म की वजह से बहुत भारी नुकसान होता दिख रहा है. इस फिल्म का मुख्य किरदार मनमोहन सिंह जी का अनुपम खेर जी निभा रहे हैं.

Udta Punjab फ़िल्म पर सैंसर बोर्ड की तारीफ और सम्मान की बातें करने वाली कांग्रेस आज सैंसर बोर्ड के खिलाफ है क्योंकि आज नुकसान कांग्रेस को होगा.

जब पंजाब में अकाली-भाजपा को सरकार थी तब फ़िल्म ‘उडता पंजाब’ देश के सिनेमा घरों में आई थी. यह फिल्म punjab में हो रहे नशों पर आधारित थी. इस फिल्म का बहुत से लोगों नें विरोध भी किया था, लेकिन यहां गांधी परिवार की कांग्रेस पार्टी सैंसर बोर्ड के साथ खड़ी थी, लोगों को सैंसर बोर्ड के फैसले का सम्मान करने के लिए बोल रही थी क्योंकि यहां अकाली भाजपा सरकार को नुकसान था, और कांग्रेस को फायदा हो रहा था.

लेकिन आज “The Accidental Prime Minister” फिल्म को भी उसी सैंसर बोर्ड नें हरि झंडी दिखाई है, पर कांग्रेस आज इस फ़िल्म के विरोध में है क्योंकि उसे इसमें राजनीतिक नुकसान होता दिख रहा है.

यह भी पढ़ें: भाजपा नें बना दिया भारत का सबसे लंबा रेल-रोड पुल अब 700 किलोमीटर और 19 घण्टे का सफर हुआ कम, पढ़ें

Simmba Movie Collection Day 2: See How The Movie Worked At The Box Office

ये हैं दुनिया की 5 खूबसूरत औरतें जिन्होंने Google के सभी कीर्तिमान ध्वस्त कर दिए, देखें तसवीरें