in

पंचर बनाते-बनाते इस शख्स नें खरीद ली डेढ़ करोड़ की कार, और लगवा डाली 16 लाख की नंम्बर प्लेट

अगर किसी इंसान के इरादे मजबूत हों, वो मेहनत करके खाने में यकीन रखता हो तो, उसे कामयाब इंसान बनने से कोई नही रोक सकता.

भारत में एक पुराने समय का नियम से चलता आ रहा है कि भारत के जितने भी अमीर लोग हैं, जिनके पास पुश्तैनी पैसा है, जमीन है, वो लोग ही और अमीर होते चले जा रहे हैं. जिन लोगों के पास पुराना पैसा, जमीन या कारोबार नही है और वो गरीब हैं, वो लोग और भी गरीब होते चले जा रहे हैं. हर रोज अमीर और गरीब के बीच में यह खाई बडी होती जा रही है. लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो इस नियम को बुरी तरह से ध्वस्त करते हुए आगे बढ जाते हैं, ऐसे ही एक शख्स की कहानी हम आपको बताने जा रहे हैं, जो पंचर बनाते-2 करोड़पति बन गया और एक मिसाल कायम कर दी.

इस इंसान का नाम है राहुल तनेजा जिसने अपनी मेहनत के बल पर करोड़पति बनने तक का सफर तय किया.

राहुल तनेजा का परिवार मध्यप्रदेश के सिहोर में रहता था. राहुल का परिवार पुश्तैनी गरीब था, उनके पास कभी भी जरूरतों के अनुसार पैसा नही था. राहुल का जन्म इसी गरीब परिवार में हुआ और राहुल परिवार में सभी बहन- भाइयों से छोटा था. परिवार की गरीबी को देखते हुए राहुल बचपन से ही दिल में एक बडा सपना पाले हुए था. उनका सपना था अच्छा नाम कमाना और अमीर बनना, लेकिन यह सब इतनी आसानी से नही होने वाला था. अपने परिवार को गरीबी से निकालने के लिये राहुल को बहुत पापड बेलने पडे, जिसका उसने कभी अंदाजा भी नही लगाया था.

राहुल नें सीहोर में पढाई करते- करते पैसा भी कमाने का प्रयास किया, उस दौरान वो रोजाना पाठशाला के बाद पंचर लगाने का काम करने लगे. वो इस काम में खर्चा पानी ही निकाल पा रहे थे, और उनके दिल में ओर पैसा कमाने की चाह थी. इसी कारण के चलते राहुल नें सीहोर से राजस्थान के बड़े शहर जयपुर की ओर रुख किया और सीहोर से अलविदा कह गये.

जयपुर में राहुल नें अपनी पढाई जारी रखी, पढाई में भी राहुल अच्छे नंम्बर लेकर पास हो रहे थे. उनके साथ-साथ राहुल नें अखबार बेचना चालू किया, ढाबे पर काम भी किया, इसके साथ ही राहुल नें मौसम और समय के अनुसार काम किया जैसे दीवाली पर पटाखे बेचे, होली पर रंग बेचे और मकरसंक्रांति पर पतंग बेचे. इस काम से राहुल अच्छा खासा पैसा भी कमाने लगे और बढिया पढाई भी करने लगे.

राहुल धीरे-2 जवान और परिपक्व हो गए इसके बाद राहुल नें मॉडलिंग का रास्ता चुना, मॉडलिंग की दुनिया में राहुल बहुत कामयाब भी हुए और अच्छा पैसा भी कमाया.
मॉडलिंग करते-करते स्टेज और इवेंट्स को ऑर्गनाईज़ करने के भी गुर सीख लिए और फ़िर एक स्टार्टअप खोला “लाइव क्रिएशन्स”, एक इवेंट मैनेजमेंट कंपनी. इसके बाद अच्छा पैसा कमाने के बाद राहुल नें महंगी कार “टाटा जैगुआर” खरीदी, जिसकी कीमत करीब “डेढ करोड” रुपये है. इनके बाद राहुल नें राजस्तान का सबसे महंगा गाडी नंम्बर बोली लगाते हुए खरीदा, राहुल नें उस नंम्बर की अंतिम बोली 16 लाख रुपये लगाई और नंम्बर उनका हो गया, उस गाडी का नंम्बर है- RJ – 45 – CG – 1

आज राहुल के पास बहुत सी महंगी गाड़ियां और अच्छा बंगला है और वो अमीर इंसानों में गिने जाते हैं.

5 Most Richest Beggars In India Who Probably Earn More Than You!

इन गरीबों की सेल्फी नें कर दिए सब अमीर फेल, बॉलीवुड भी हुआ फैन