in ,

पाकिस्तान में की गई एयर स्ट्राईक पर बोले वायुसेना चीफ,लाशें गिनना हमारा काम नही!

भारत की जनता भारत की सेनाओं पर आंख मूंद कर यकीन करती है, लेकिन देश की सबसे पुरानी पार्टी और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को सेना पर भरोसा नही है. ये लोग सेना से पाकिस्तान में की गई एयर स्ट्राईक का सबूत मांग रहे हैं.

भारत की जनता इस बात से भली भांति परिचित है, कि पाकिस्तान भारत का सबसे बडा दुश्मन है. क्योंकि पाकिस्तान एक आतंकवादी देश है. पाकिस्तान अपने इस्लामिक जेहादी आतंकवादी भारत में भेज कर, भारत की सेनाओं के जवान और आम लोगों को मरवाता आया है. पाकिस्तान आजादी के बाद से ही भारत के आम लोगों को मरवाना चालू कर दिया. पाकिस्तान के साथ भारत को बडी-2 जंगे भी हुई, और पाकिस्तान को हर बार भारत ने धूल चटाई. लेकिन वो आज भी भारत में आतंकवादियों को भारत की सीमा में भेज रहा है.

इतिहास में 2014 में मोदी जी की भाजपा सरकार नें पाकिस्तान और बर्मा में करीब 3 बार उनकी सीमा में घुसकर आतंकवादियों को मारा.

भारत में कांग्रेस की सरकार नें करीब 60 साल तक राज किया. इस दौरान पाकिस्तान नें अपने आतंकवादियों को भेज कर भारत में बडे-2 आतंकी हमलों को अंजाम दिया. जैसे इनमें सबसे बडा हमला था 26/11 जो पाकिस्तान नें करवाया था. लेकिन इसके बाद भी कांग्रेस की फिस्सडी सरकार पाकिस्तान का बाल बांका नही कर सकी. 2014 में केंद्र में मोदी जी भाजपा सरकार आई. मोदी सरकार आने के बाद पाकिस्तान नें “उरी” हमला कराया. इसका बदला मोदी जी नें पाकिस्तान में सेना भेज कर आतंकियों को मरवाया. उसके बाद पुलवामा में आतंकवादी हमला हुआ जो पाकिस्तान नें करवाया. मोदी सरकार नें इसका बदला भी पाकिस्तान की सीमा में घुसकर एयर स्ट्राईक करवाकर पाकिस्तान के 200-300 आतंकवादियों को मरवा दिया.

सेना पर विशवास नही कांग्रेस,केजरीवाल और ममता बनर्जी को, सेना से मांगते है सर्जिकल स्ट्राईक के सबूत और पाकिस्तान के आतंकियों की लाशें.

पूरे विश्व में भारत को छोडकर कोई ऐसा देश नही जिसकी राजनैतिक पार्टियों को अपनी ही सेना पर विशवास नही, और विरोध का आलम यह होता है, कि वो लोग अपने ही प्रधानमंत्री के विरोध में दुश्मन देश के साथ खडे हो जाते हैं. भारत नें पाकिस्तान द्वारा करवाये गए ‘उरी’ आतंकी हमले के विरोध में पाकिस्तान की सीमा के अंदर भारती आर्मी को भेजकर सर्जिकल स्ट्राईक करवाई और ठीक ऐसा ही पुलवामा हमले के बाद भारत की वायुसेना ने जवाब दिया. लेकिन सबूत मांगे गए सेना से सरकार से की हमे सबूत दो, भारतीय आर्मी या वायुसेना नें पाकिस्तान में घुसकर कितने आतंकवादियों को मारा है? सबूत मांगने वालों में कांग्रेस पार्टी, केजरीवाल की “आम आदमी पार्टी”, ममता बनर्जी खुद सबसे आगे है.

ममता बनर्जी और कांग्रेस पार्टी के बालाकोट एयर स्ट्राईक के सबूत मांगने पर,वायुसेना प्रमुख बी.एस धनोआ जी को खुद सामने आकर सफाई देनी पडी.

वायुसेना प्रमुख पर विपक्षी पार्टियों द्वारा मांगे जा रहे बालाकोट एयर स्ट्राईक के सबूत की वजह से दबाव बन गया था. वजह से वायुसेना प्रमुख नें मीडिया से बात करते हुए बताया कि, “वायुसेना का काम था टारगेट हिट करना” जो हमने एक दम सही टारगेट हिट किये. हमारा काम लाशें गिनना नही है. हालांकि सूत्रों के अनुसार रिपोर्ट यह भी है कि जिस आतंकवादी कैंप पर सेना नें बम गिराए वहां “करीब 300 मोबाइल एक्टिव थे”.

यह भी पढ़ें: पायलेट अभिनंदन नें जानकारियां देने मना किया पाकिस्तान को, लेकिन भारतीय मीडिया ने खोल दी पोल 

पायलेट अभिनंदन नें जानकारियां देने मना किया पाकिस्तान को, लेकिन भारतीय मीडिया ने खोल दी पोल

अभिनंदन तो वापिस आ गए, लेकिन 1971 की जंग के बाद से पाकिस्तान की जेलों में हैं 54 सैनिक.