in

अगर आपके शरीर मे Vitamin-D की कमी है, तो हो सकते हैं ये भयानक रोग

इंसान के शरीर में सभी विटामिन का संतुलन होना बहुत जरूरी होता है. क्योंकि कर विटामिन का इंसान शरीर मे एक अलग महत्व है.

आज के समय मे इंसान को नई-नई बीमारियां यो रही हैं इनमेसे कुछ बीमारियां तो इंसान के खानपान और रहन-सहन की वजह से होती हैं जैसे कि Vitamin-D की कमी से शरीर में बहुत से रोग हो जाते हैं. विटामिन डी हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है, क्‍योंकि इससे न केवल हड्डियों का विकास होता है बल्कि हड्डियां मजबूत भी होती हैं।

लेकिन वर्तमान में ऑफिस कल्‍चर अधिक बढ़ने के कारण लोगों में विटामिन डी की कमी हो रही है, क्‍योंकि अधिक समय धूप में नहीं बिताते हैं। विटामिन डी के लिए सबसे बेहतरीन स्रोत धूप है। सप्ताह में तीन बार 10-15 मिनट तक धूप में रहने पर शरीर खुद ही विटामिन डी को बनाने लगता है।

लेकिब इसके लिए लोगों के पास वक्‍त नहीं है, ऐसे में प्राकृतिक आहार विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकते हैं। विटामिन डी की कमी से बच्चों में रिकेट्स या सूखा रोग और बड़ों में ऑस्टियोपोरोसिस होने का खतरा होता है.

बहुत से रोग हैं जो Vitamin-D की कमी के कारण होते हैं जिसके बारे मे हम बताने जा रहे हैं.

(1) बाल झड़ना

बाल झडना आजकल वेसे सबसे आम समस्या है. 20 साल की उम्र में भी आजकल बच्चों के बाल झड़ रहे हैं. वैसे तो बाल झडने के बहुत से कारण होते हैं लेकिन, एक कारण बाल झडने का विटामिन-D की कमी भी है.

(2) हड्डियों और मांसपेशियों मे दर्द रहना

इंसान जब थोडा बहुत काम करने के बाद भी थक जाता है, और उसे अपनी मांसपेशियों तथा हड्डियों मे दर्द का अहसास होने लगता है. यह सब दिक्कतें विटामिन-D की कमी के कारण आती हैं.

कैसे की जा सकती है विटामिन-D की कमी पूरी पढें.

● विटामिन-D की कमी पूरी करने लिए इंसान “टूना मछली” खानी चाहिए. अगर कोई मछली का सेवन नही करता तो उसे “egg yolk” सेवन लड़ना चाहिए.

● धूप विटामिन-D प्राप्त करने का मुख्य स्रोत है. हर इंसान को सुबह उठकर अपने शरीर को धूप जरूर लगवानी चाहिए.

● Vitamin-D की कमी पूरी करने के लिए दूध या दूध से बनी चीजें, जैसे कि दही,छाछ, मक्खन ,पनीर यह सब खाना पीना चाहिए.

बॉलीवुड के स्टार “पंकज त्रिपाठी” की यह तस्वीरें देख कर समझ जायेंगे आप, कैसे हुए उनके सपने पूरे

भारत में दुकानदारों को यह चीज़ें ग्राहक को मुफ्त देनी ही पडती हैं, वरना ग्राहक मांगे बिना नही रहते